A digital magazine on sexuality in the Global South

Month: April 2015

Blog Roll

How I live ‒ and try to die ‒ with schizophrenia

Categories

‘बीमार’ होने को विवश

लम्बे समय तक, हमारे समाज के एक बड़े हिस्से द्वारा यौनिक ‘अल्पसंख्यकों’ को मानसिक रोगी माना जाता था। यह माना जाता था कि उनकी यौनिकता का थेरेपी, मनोरोग चिकित्सीय सलाह,…
  • 1
  • 2